सट्टेबाजी साइटों से पैसे कैसे निकालें

प्रिय मित्रों, आज हम यह सीखेंगे कि सट्टेबाजी साइटों से पैसे कैसे निकाले जाते हैं। तो चलो शुरू हो जाओ!

परिचय

सट्टेबाजी के क्षेत्र में होने के कारण आपको बहुत से लोगों से इस बारे में बहुत सारे प्रश्न मिलते हैं:

  • लेन-देन की प्रक्रिया को कैसे संभाला जाता है?
  • विजेताओं का चयन किस आधार पर किया जाता है?
  • विजेता अपनी जीत की राशि कैसे निकालते हैं?

लेन-देन की प्रक्रिया को कैसे संभाला जाता है

लेन-देन की प्रक्रिया उस साइट पर निर्भर करती है जिसका आप उपयोग कर रहे हैं। ऐसी कई वेबसाइटें हैं जो आवश्यकता के आधार पर भुगतान के विभिन्न तरीकों को स्वीकार करती हैं। यह पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करता है कि वह किस वेबसाइट का चयन करेगा। कुछ वेबसाइटें कुछ सुविधाओं और भुगतान के तरीकों के साथ आती हैं। वे अपने देश की सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के कारण प्रतिबंधित हैं। 

विजेताओं को किस आधार पर चुना जाता है

खेल के विजेताओं को निर्धारित मानदंडों के आधार पर चुना जाता है। बेटर्स कुछ स्थितियों और स्थितियों पर दांव लगाते हैं। खेल शुरू होने से पहले ये शर्तें उनके द्वारा पूर्व निर्धारित की जाती हैं। जब परिस्थितियाँ बेहतर के पक्ष में होती हैं, तो बेहतर जीतता है। इस प्रकार खेल में विजेता का चयन किया जाता है। 

विजेता अपनी जीत की राशि कैसे निकालते हैं

भारत में ऑनलाइन सट्टेबाजी साइटें विभिन्न लेनदेन विधियों की पेशकश करती हैं। व्यक्ति अपनी सुविधा के अनुसार भुगतान मोड चुन सकता है। लेकिन चूंकि खेल कई देशों में अनधिकृत है, इसलिए पैसे निकालना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। बेटर्स के लिए उपलब्ध विभिन्न भुगतान मोड इस प्रकार हैं:

  • डेबिट कार्ड: प्रारंभ में भारतीयों ने नेटेलर के डेबिट कार्ड के अवसर का भरपूर लाभ उठाया। इस भुगतान मोड ने भारतीयों को अपने बैंक खातों के माध्यम से जीतने वाली राशि निकालने की सुविधा प्रदान की। लेकिन 2011 के बाद से नेटेलर ने भारतीयों को उनकी सेवा का लाभ उठाने से रोक दिया। Neteller के अलावा एक अन्य विकल्प entropay.com है। यह सॉफ्टकॉपी के रूप में एक और डेबिट कार्ड है।
  • पेपैल: इस एप्लिकेशन ने कुछ देशों को अपनी जुआ राशि का लेन-देन करने की अनुमति दी है। इन देशों के अलावा, यदि कोई अन्य देश जुए के लेन-देन में शामिल होता है, तो उन्हें लंबे समय तक सलाखों के पीछे डाल दिया जाएगा। यह एप्लिकेशन भारतीय जुआरियों के लिए उपलब्ध नहीं है। लेकिन उनमें से बहुत से ऐसे हैं जो अभी भी आवेदन के माध्यम से जुए के पैसे का लेनदेन करते हैं।
  • ई-वॉलेट: ई-पर्स जुआ साइट और बैंक के बीच मध्यस्थ हैं। नेटेलर जुए के लिए सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले ई-वॉलेट में से एक है। बेटवे प्रसिद्ध एप्लिकेशन है जो भारतीय उपयोगकर्ताओं को इस ई-वॉलेट के माध्यम से जीतने वाली राशि निकालने की अनुमति देता है। एक और ई-वॉलेट है जिसे Skrill कहा जाता है। यह ई-वॉलेट जुआ वेबसाइटों के बीच भी काफी प्रसिद्ध है।
  • स्थानांतरण सेवाएं: विभिन्न ऑनलाइन वित्तीय संस्थान हैं जो सभी को स्थानांतरण सेवाएं प्रदान करते हैं। इन सेवाओं का उपयोग करके जुआरी अपने जुए के पैसे निकाल सकता है। लेकिन ये सेवाएं राशि के हस्तांतरण के लिए बहुत अधिक शुल्क लेती हैं, इसलिए ये काफी महंगी हैं।

भारत में कई सट्टेबाजी साइटें हैं जो जुआरी को दांव लगाने में सक्षम बनाती हैं। सट्टेबाजी साइटों से पैसे कैसे निकालें यह एक बहुत ही सामान्य प्रश्न रहा है, लेकिन अब आप इसका उत्तर जानते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

ReviewSportsBetting.com
2021 © ReviewSportsBetting.com | साइट आपको बुद्धिमानी से सोचने के लिए प्रोत्साहित करती है! [१८+ केवल]